आरुषि-हेमराज मर्डर केस: इलाहाबाद हाईकोर्ट सुनाएगा फैसला, ये है क़त्ल की दास्तान

 

 

नोएडा के चर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड मामले में आज इलाहाबाद हाईकोर्ट फैसला सुनाएगा। राजेश तलवार और उनकी पत्नी नूपुर तलवार की अर्जी पर कोर्ट यह फैसला सुनायेगा। आरुषि-हेमराज हत्याकांड में 25 नवंबर 2013 को गाजियाबाद की विशेष सीबीआई कोर्ट ने हालात से जुड़े सबूतों के आधार पर दोनों को उम्रकैद की सज़ा सुनाई थी, जिसके खिलाफ जनवरी 2014 में दोनों ने इलाहाबाद हाइकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया।

बता दें कि 16 मई 2008 की रात को नोएडा के जलवायु विहार में आरुषि की उसके ही घर में हत्या कर दी गई थी। एक दिन बाद उसके नौकर हेमराज का शव उसी घर की छत से मिला। हत्या के 5 दिन बाद पुलिस ने ये दावा करते हुए आरुषि के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया कि राजेश ने आरुषि और हेमराज को आपत्तिजनक हालत में देखने के बाद दोनों की हत्या कर दी। फिलहाल गाजियाबाद की डासना जेल में तलवार दंपती सजा काट रहे हैं।

इस मामले 23 मई की सुबह पुलिस आईजी गुरदर्शन सिंह ने ऐलान किया कि यह ऑनर किलिंग है। सिंह ने कहा कि पिता और बेटी दोनों के चरित्र कमजोर थे। हत्या की रात राजेश देर रात तक जगे रहे क्योंकि इंटरनेट सुबह 3 बजे तक चल रहा था। राजेश ने आरुषि के कमरे में आवाजें सुनीं, हेमराज को आरुषि के बिस्तर पर पाया और गुस्से में दोनों को गोल्फ स्टिक से मौत के घाट उतार दिया. नूपुर ने इस अपराध में उनकी मदद की थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *