यशवंत सिन्हा के बाद स्वदेशी जागरण मंच ने मोदी सरकार की नीतियों पर बोला हमला

वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे और बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा के आर्टिकल ने भारतीय अर्थव्यवस्था की मौजूदा हालत पर नए सिरे से बहस शुरू कर दी है। इसके बाद राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री अरुण जेटली पर सीधा हमला बोलते हुए देश की आर्थिक हालत को लेकर प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री से इस्तीफा मांगा है।

बता दें कि बीजेपी के पूर्व मंत्री रहे यशवंत सिन्हा के अपने लेख में आर्थिक हालत पर तीखी टिपण्णी की। इसके बाद उनके इस लेख ने बीजेपी को बैकफुट पर धकेल दिया है। हालाँकि और पार्टी नेतृत्व यशवंत के आरोपों पर सीधे टिप्पणी करने से बच रहा है। वहीं अब  स्वदेशी जागरण मंच ने भी सरकार की आर्थिक नीतियों पर सवाल उठाए हैं।

स्वदेशी जागरण मंच के सह संयोजक अश्विनी कुमार का कहना है कि मौजूदा आर्थिक नीतियों में कुछ चीजें हैं जिन्हें बदलना जरूरी है। रोजगार इस देश में महज एक राजनीतिक नारा बन गया है। जीएसटी के कारण छोटे कारोबारी प्रभावित हुए हैं।

उन्होंने कहा कि यशवंत सिन्हा की राय से मैं पूरा सहमत नहीं हूं लेकिन मौजूदा आर्थिक नीतियों में बदलाव की जरूरत है। सरकार को रोजगार पैदा करने की जरूरत है, वरना यह राजनीतिक नारा बना रहेगा।

इधर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने सरकार का बचाव किया और कहा कि दुनिया देख रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले तीन सालों में भारत की अर्थव्यवस्था ने तेजी से विकास किया है। उन्होंने कहा कि भारतीय इतिहास में संभवतः पहली बार भारत वैश्विक विकास को ड्राइव कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *